फर्जी कालीन कंपनी बनाकर ड्रा बैक के नाम 51 करोड़ रुपये का चूना

 लखनऊ सीमा शुल्क विभाग ने भदोही के चार कालीन निर्यातकों का 51 करोड़ रुपये का फ्रॉड पकड़ा है। अब इन फ्रॉड करने वाली कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी है। मुख्य आयुक्त, सीमा शुल्क के सी गुप्ता (यूपी, उत्तराखंड, बिहार, झारखंड) के मुताबिक भदोही की 4 कालीन कंपनियों ने भारत सरकार की ड्रॉबैक स्कीम के तहत 51 करोड़ रुपये ले लिए। मगर इसके कागजात नहीं जमा किए गए। बाद में जब जांच करवाई गई तो पता चला की कंपनियां फर्जी थीं।

मंगलवार को लखनऊ में हुई प्रेसवार्ता के दौरान मुख्य आयुक्त, सीमा शुल्क ने बताया कि 2017-18 में 267 केस रजिस्टर किए गए। जिनसे 28.40 करोड़ रुपये पकड़े गए। 2017-18 के दौरान 45 किलो सोना पकड़ा गया, जिसकी कीमत 13.50 करोड़ रुपये है। इसमें 11.23 किलो सोना मुगलसराय स्टेशन पर एक व्यक्ति द्वारा अवैध रूप से ले जाते हुए पकड़ा गया। लखनऊ एयरपोर्ट पर एक व्यक्ति 3 किलो सोना फ्लाइट की सीट के नीचे छिपाकर लाया था। उसे भी सीमा शुल्क विभाग के अधिकारियों ने पकड़ा। इसके अलावा 1.5 लाख किलो विदेशी सुपाड़ी पकड़ी गई, जिसकी कीमत 3.75 करोड़ रुपये थी।

तस्करी की सूचना देने पर मिलेगा 20 प्रतिशत

मुख्य आयुक्त ने बताया कि अगर कोई व्यक्ति किसी भी तरह के सामान की तस्करी की सूचना देता है तो उसे मिलने वाले सामान की 20 प्रतिशत रकम दी जाएगी। तस्करी की सूचना देने वाले व्यक्ति की पहचान भी गुप्त रखी जाएगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.