एक्सपो मार्ट हैंडओवर के लिए तैयारियां अधूरी, अक्टूबर में लगने की संभावना को लग सकता है झटका

भदोही के नवनिर्मित एक्सपो मार्ट में फेयर आयोजन की संभावनाएं लगातार धूमिल होती जा रही हैं। शुक्रवार को परिषद के प्रशासनिक समिति के सदस्य संजय गुप्ता ने मार्ट का इंस्पेक्शन करने के बाद कहा कि कार्यदाई संस्था को 26 बिंदुओं पर काम को अंतिम रूप देने को निर्देशित किया गया था लेकिन प्रगति निराशाजनक है। निरीक्षण के दौरान मार्ट में कोई जिम्मेदार न मिलने पर उन्होंने नाराजगी जताई।भदोही में करीब दो सौ करोड़ की लागत से बनकर तैयार मेगा मार्ट में इंडिया कारपेट एक्सपो के आयोजन की उम्मीदों को झटका लगा है। मार्ट संचालन के लिए सरकार से अधिकृत कालीन निर्यात संवर्धन परिषद (सीईपीसी) की दो सदस्यीय टीम ने शुक्रवार को मार्ट का निरीक्षण करने के बाद निराशा जाहिर की है।

आठ मार्च को परिषद के चेयरमैन महावीर प्रताप उर्फ राजा शर्मा, प्रथम उपाध्यक्ष सिद्धनाथ सिंह, ज्वाइंट कमिश्नन उद्योग विभाग उमेश सिंह सहित परिषद के प्रशासनिक सदस्यों की टीम ने मार्ट का अवलोकन किया था। विभिन्न बिदुओं पर काफी कमियां पाई गई थीं। मार्ट के अवलोकन के बाद चेयरैमन श्री शर्मा ने बताया था कि अभी 15 फीसद कार्य शेष है। मार्ट की फिनिशिग, इलेक्ट्रिकल, पलंबरिग, ग्लास, एसी सहित काफी काम हैं जो होना बाकी है। उन्होंने कार्यदाई संस्था को 26 बिदुओं पर कार्य पूरा करने के लिए दो माह का समय दिया था। समय बीत गया लेकिन अभी तक कोई कार्य नहीं कराया गया। सीईपीसी प्रशासनिक समिति के सदस्य संजय गुप्ता व परिषद के उपनिदेशक विजय कुमार सिन्हा शुक्रवार को मार्ट की प्रगति का जायजा लेने कारपेट सिटी का निरीक्षण कर यह जानकारी दी। बताया कि आगामी अक्टूबर माह में भदोही कालीन मेले के आयोजन की उम्मीदों को झटका लगा है। निरीक्षण रिपोर्ट परिषद को प्रेषित करेंगे तथा आगे की रणनीति परिषद के माध्यम से तय की जाएगी।आगामी 20 मार्च को cepc की बैठक में इस पर विचार किया जाना है ऐसे में आगामी 2 तीन महीने इस गति काम होने पर हैंडओवर होना सम्भव नही है एक माह पूर्व जिस अवस्था मे एक माह भाड़ भी इसमें  कोई सुधार नही हुआ है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.