शिकायतों का समाधान करने का बैंकिंग लोकपाल सशक्त माध्यम-लोकपाल डी के श्रीवास्तव

भदोही के अखिल भारतीय कालीन निर्माता संघ के सभागार में आज बैंकिंग लोकपाल के लोकपाल डी के श्रीवास्तव ने बैंकर्स और बैंकिंग उपभोक्ता से कहा कि बैंकों द्वारा सेवाओं में कमी, उनसे सम्बन्धित शिकायतों का समाधान करने का बैंकिंग लोकपाल सशक्त माध्यम है।
उन्होंने कहा कि बैंकों द्वारा उपभोक्ताओं के साथ कोई भी मनमानी करने पर वह लोकपाल के पास जा सकते हैं। आज देश आर्थिक प्रगति तेजी से कर रहा है। अधिकांश जनता बैंकों से जुड़ चुकी है। ऐसे में बै के सम्बन्धित शिकायते भी बढ़ी हैं। आज ज्यादातर शिकायते एटीएम से सम्बंधित आते हैं जिसमे उनका पैसा किसी तरीके से निकल जाता है। उन्होंने कहा कि बैंकिंग लोकपाल बैंकों द्वारा सेवा में कमी, वसूली भुगतान आदि बैंकों द्वारा विलम्ब करने के साथ बिना कारण खाता बन्द करने, बिना सूचना किसी प्रकार का टैक्स लगाना। उन्होंने कहा कि बैंक की कमी से उपभोक्ता का पैसा निकल जाने पर बैंकिग लोकपाल में चार दिन के अंदर शिकायत दर्ज करनी चाहिए। अक्सर देखा जाता है कि किसी खातेदार के खाते द्वारा किसी दूसरे व्यक्ति द्वारा खरीददारी कर ली जाती है, ऐसे मामलों में उप भोक्ता अगर चार दिन में शिकायत करता है तो उसका पैसा वापस दिलाने की कार्यवाई की जाती है। 
उन्होंने कहा कि बैंकिंग लोकपाल में शिकायत से पूर्व अपने बैंक को लिखित शिकायत करनी चाहिए और उसके सन्तुष्ट न होने बैंकिग लोकपाल में शिकायत कर सकते हैं। शिकायत करते समय शिकायतकर्ता का नाम मोबाइल नम्बर और बैंक के नाम के साथ शिकायत का विवरण व साक्ष्य के साथ शिकायत कर सकते हैं।
उन्होंने बताया कि बैंकिंग लोकपाल में आने वाले मामलों में बैंक उपभोक्ताओं को काफी मदद मिल रही हैं। पूर्वांचल क्षेत्र के भदोही में जानकारी के आभाव में शिकायते कम प्राप्त हो रही हैं। इसके लिए उन्हीने लोगों से बैंकिंग लोकपाल के प्रति जागरूक रहने के साथ अपने एटीएम से जुड़ी जानकारी किसी अन्य व्यक्ति को न देने की अपील किया।
इस दौरान एकमा सचिव पीयूष बरनवाल, शिवसागर तिवारी, रवि पाटोदिया, एसबीआई के अरुण कुमार विश्वकर्मा सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।
https://www.youtube.com/watch?v=KZCKCPPwHOY

Leave a Reply

Your email address will not be published.