सीईपीसी के चुनाव की सरगर्मी बढ़ी

जर्मनी के डोमोटेक्स फेयर से कालीन निर्यातकों के लौटने के साथ ही अब लोगों ने कालीन निर्यात संवर्धन परिषद (सीईपीसी) चुनाव पर ध्यान केंद्रित कर दिया है। परिषद के प्रथम और द्वितीय उपाध्यक्ष समेत कुल सात सीटों पर 9 से 15 फरवरी के बीच आनलाइन मतदान होना है। 31 जनवरी को नामांकन करने की अंतिम तिथि देखते हुए निर्यातक गुटों में प्रत्याशियों के चयन पर बैठकों का दौर शुरू हो गया है।
भावी प्रत्याशियों और प्रशासनिक समिति के वर्तमान सदस्यों से छन कर आ रही खबरों में एक गुट के प्रथम उपाध्यक्ष पद पर पूर्व चेयरमैन सिद्धनाथ सिंह का चुनाव लड़ना पक्का हो गया है। दूसरे गुट से प्रथम उपाध्यक्ष पद के लिए संजय गुप्ता का नाम सामने आ रहा है। जानकारी हो कि चुनाव की अधिसूचना जारी होने के समय अधिकतर कालीन निर्यातक जर्मनी में डोमोटेक्स फेयर में भाग लेने के लिए रवाना हो रहे थे।

फेयर समाप्ती के बाद अब लोगों का लौटना शुरू हो गया है साथ ही लोग चुनावी मंथन में भी जुट गए हैं।मंगलवार को नगर के एक गुट के दो दर्जन कालीन निर्यातक एक प्रमुख कालीन कंपनी में जुटे और चुनावी मंथन पर विचार किया। समझा जा रहा है कि बैठक में प्रथम उपाध्यक्ष पद के लिए मिर्जापुर के सिद्धनाथ सिंह के नाम पर मुहर लग चुकी है। इसके अलावा यूपी के तीन, शेष भारत के एक और कश्मीर कोटे से द्वितीय उपाध्यक्ष और एक प्रशासनिक समिति के प्रशासनिक सदस्य पदों के लिए प्रत्याशियों पर भी चर्चा होने के बाद अंतिम फैसला बुधवार तक के लिए टाल दिया गया।

बताया जाता है कि बुधवार को गोपीगंज में भी एक बैठक होगी जिसमें अहम निर्णय लिए जाएंगे। इस बीच प्रथम उपाध्यक्ष पद के लिए गोपीगंज के मौजूदा प्रशासनिक सदस्य, संजय गुप्ता का नाम भी आ रहा है।16 फरवरी को मतगणना और उसी दिन परिणाम की घोषणा को लेकर निर्यातकों में भी सरगर्मी बढ़ गई है। चूंकि प्रथम उपाध्यक्ष ही अगला चेयरमैन होगा इसलिए इस पर कौन प्रत्याशी आ रहा है इसको लेकर खासी चर्चा है।


Leave a Reply

Your email address will not be published.