कालीन निर्यात  संवर्धन परिषद के नए चेयरमैन सिद्धनाथ सिंह  

नयी दिल्ली कालीन निर्यात  संवर्धन परिषद के नए चेयरमैन सिद्धनाथ सिंह होंगे आज उन्होंने पदभार ग्रहण कर लिया है,इसी के साथ बीते 6 माह निर्यात संवर्धन परिषद् में चेयरमैन का चार्ज लेकर चल रहे उपापोह खत्म हो गया है  मंत्रालय ने प्रथम उपाध्यक्ष सिद्धनाथ सिंह को तत्काल प्रभाव से चार्ज हस्तांतरित करने का आदेश दिया है  सिद्धनाथ सिंह ने परिषद् के दिल्ली कार्यालय जाकर चेयरमैन का पदभार ग्रहण कर लिया है | 2017 में परिषद् के चुनाव हुआ था जिसमे सदस्य और अध्यक्ष चुने गए जिसके बाद यह विवाद  सामने आया था की विदेश व्यापार निति के पैरा 2.९२ का पालन नही किया गया था जिसको लेकर परिषद् में परिषद् में नए सिरे से सभी पदों का चुनाव करने या प्रथम उपाध्यक्ष सिद्धनाथ सिंह को पदभार सौपने  को लेकर विवाद  बना हुआ था सिद्धनाथ सिंह लगातार पद  हस्तांतरण नही करने का आरोप लगा रहे थे वही महावीर शर्मा का कहना था मंत्रालय  के निर्देश मिलने पर ही कुछ कर सकते है इन सबके बीच मंत्रालय ने अपने आदेश में कहा है की महावीर शर्मा के दो साल का कार्यकाल पूरा हो  गया है उसेे वे खुद बड़ा नही सकते है वही सिद्धनाथ सिंह के फरवरी 2017 में प्रथम उपाध्यक्ष चुने जाने को स्पेशल केस में मान्यता देते हुए तुरंत चेयरमैन का चार्ज लेने को कहा है  नये चेयरमैन से EGM  को बुलाकर FTP पालिसी के 2.९२ अपने इलेक्शन के नियमो में समाहित करने को कहा है  और अगला उपाध्यक्ष का चुनाव नियमो के अनुसार कराने को कहा है श्री  सिंह को परिषद् के अध्यक्ष का चार्ज मिलने के बाद कालीन निर्यातको ने ख़ुशी जताई है , भदोही के निर्यातको का मानना है की इस्नके चेयरमैन बनने से भदोही में 200 करोड़ की लगता से बना मार्ट में अक्टूबर २०१९ में मेला लगाना संभव हो जायेगा चार्ज लेने के दौरान  परिषद् के निदेशक संजय कुमार कुलदीप वाटल ,बोधराज मल्होत्रा गुलाम नवी सतीश वाटल शिवकुमार गुप्ता मौजूद रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published.