भौगोलिक संकेतक अधिनियम(G.I) हमारे उत्पाद का सही मूल्य दिलाने और मार्केटिंग में सहायक हो सकती है- पद्म श्री रजनीकांत

भदोही ,आज जनपद भदोही के एकमा के सभागार में उद्योग विभाग द्वारा भोगोलिक संकेतक अधिनियम रिस्क मैनेजमेंट एंड एक्सपोर्ट पालिसी पर एक वर्कशॉप का आयोजन किया गया | जिसमे पद्मश्री श्री रजनीकांत द्वारा gi विषय पर प्रकश डालते हुए कहा की इस मिलने से हमें और क्षेत्र के पर एक बढ़त मिल जाती है जो हमारे उत्पाद सही मूल्य दिलाने  और मार्केटिंग में सहायक हो सकती है | उन्होंने इसके लिए जरूरी है की इसके ज्यादा से ज्यादा  यूजर बढ़ाये जाये इसका प्रचार प्रसार किया जाये |

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कालीन निर्यात संवर्धन परिषद् के प्रथम उपाध्यक्ष सिद्ध नाथ सिंह ने कहा की इसका लाभ लेने के लिए परिषद् हर सहयोग को तैयार है | भारतीय विदेश व्यापार कार्यालय वाराणसी के उप निदेशक अमित कुमार ने कहा की कई देश ऐसे  है जहा कालीन का निर्यात लगातार बढ़ रहा है लेकिन देश के निर्यातक ऐसे देशो पर फोकस नही कर रहे है उन्होंने कहा की इस ध्यान देकर निर्यात को बढ़ाया जा सकता है उन्होंने GI के बेहतर प्रयोग के लिए एक एजेंसी की आवश्यकता है और इसके प्रचार प्रसार पर ध्यान देने की जरूरत है |कार्यक्रम में अमेज़न से  वामशी पोथला ने ने कहा की आज का दूर डिजिटल हो रहा है एसे में अपने उत्पादों को बेचने के लिए वामशी पोथाला ने कहा डिजिटल प्लेट फॉर्म  का प्रयोग करना चाहिए उन्होंने पोर्टल पर पंजीकरण की जानकारिय दी | करायाक्म में निफ्ट के वाराणसी के निदेशक एस के झा ने उद्योग में डिजाईन के मह्ह्त्व पर प्रकाश डाला | कार्यकम मेंgi में लोगो के इस्तेमाल करने लिए पंजीकृत निर्यातको अपर जिलाधिकारी रामसिंह वर्मा द्वरा  टेक्सटिको के इम्तियाज़ अंसारी ,अंजनी कारपेट से पियूष बरनवाल ,आर एम्

सी से अब्दुल रब अंसारी राजपूत कारपेट से सिद्धनाथ सिंह द्वारा को को प्रमाण पत्र दिया गया    कार्यकम में धन्यवाद ज्ञापन उपायुक्त उद्योग हरेन्द प्रसाद और सञ्चालन रवि पटोदिया ने किया कार्यकम मुख्य रूप से , शहीद हुसैन ,एच् एन मौर्य, अब्दुल हादी , सत्तार भाई, असफाक अंसारी , ने मुख्य रूप से विचार व्यक्त किया

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.