स्मृति ईरानी से कालीन उद्योग ने की बढ़े हवाई मालभाड़े को कम करने की मांग

वर्चुअल फेयर लगाने पर दिया जोर

वस्त्र मंत्री स्मृति ईरानी ने कालीन उद्यमियों के साथ कि ऑनलाइन मीटिंग

भदोही। कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के कारण बड़े पैमाने पर प्रभावित हुए कालीन उद्योग को दोबारा पटरी पर लाने को लेकर वस्त्र मंत्री स्मृति ईरानी ने रविवार को कालीन निर्यताको के साथ ऑनलाइन मीटिंग किया जिसमें कालीन उद्योग की तरफ से बढ़े माल भाड़े को कम करने के साथ वर्चुअल फेयर लगाने की मांग की गई। साथ ही सरकार द्वारा मिलने वाली सुविधाओं में बढोत्तरी की मांग रखी गयी।

मीटिंग के बारे में कालीन निर्यात संवर्धन परिषद के अध्यक्ष सिद्धनाथ सिंह ने बताया कि कोरोना के कारण विश्व स्तर पर लगने वाले सभी कारपेट एक्सपो रद्द हो चुके हैं। कोरोना के कारण बायर-सेलर कहीं भी जाने से कतरा रहे हैं। ऐसे में वस्त्र मंत्री के सामने मांग रखी गयी है कि वर्चुअल फेयर लगाने के लिए मंत्रालय द्वारा मंजूरी दी जाय। इससे कालीन उद्योग को बाजार मिलता रहेगा और उत्पादन के साथ निर्यात को बढ़ावा मिलेगा। कोरोना वायरस के कारण हवाई माल भाड़ा में भारी बढोत्तरी हुई है जिसे कम करने की जरूरत है। इसे लेकर मांग की गई है कि सरकार बढ़ते भाड़े पर अंकुश लगाए इससे निर्यातकों को राहत मिलेगी। पूर्वांचल में बड़ी संख्या में कोरोना के चलते महानगरो से लौट कर और मजदूरों को रोजगार देने के लिए क्लस्टर और शेड बनाकर देने की बात कही गई । वही केंद्र सरकार द्वारा जल्दी लागू किये जाने वाले रॉड टेप योजना में कालीन उद्योग को प्रमुखता देने की।मांग सदस्यों ने उठाई वही जीएसटी का रिटर्न रुका हुआ है इसे तत्काल वापस करना चाहिए। इसके साथ ही बाहर से आ रहे कामगारों के लिए क्लस्टर स्थापित कर उन्हें रोजगार देने की योजना पर भी चर्चा की गयी
वस्त्र मंत्री की निर्यताको के साथ ऑनलाइन मीटिंग एक घण्टे तक चली। मीटिंग में ईडी संजय कुमार, एकमाध्यक्ष ओमकार नाथ मिश्रा, सीईपीसी के उमेश गुप्ता मुन्ना,संजय गुप्ता मनीष गुप्ता,विनय कपूर,ओपी गर्ग,कमरुद्दीन अंसारी, ओमकार मिश्रा, विजय कपूर,आलोक बरनवाल,निर्यातक रवि पाटोदिया,पीयूष बरनवाल सहित अन्य लोग शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.