बजट में जी आई , बौद्धिक संपदा अधिकार का जोर बढ़ा

काशी क्षेत्र को सबसे बड़ा फायदा, ।।
जी आई का हब है वाराणसी ।।
वाराणस   GI विशेषज्ञ , पद्म श्री सम्मानित और राष्ट्रीय बैद्धिक संपदा प्राप्त डॉ रजनी कांत ने बजट पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि करोड़ो शिल्पिओ और जी आई उत्पादकों को इससे सीधा फायदा होगा और देश के उत्पादों का गौरव पूरी दुनिया में बढ़ेगा, उपभोक्ताओं को असली समान और भारत को ज्यादा विदेशी मुद्रा मिलेगी, जिसका सीधा फायदा इससे जुड़े शिल्पिओ, बुनकरों, किसानों को मिलेगा ।।
विशेषता यह रही कि माननीय वित्त मंत्री जी ने
जी आई और बौद्धिक संपदा वाले भाषण को अंग्रेजी और हिंदी दोनो भाषाओ में कहा ।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.