कालीन नगरी को मिला विशेष निर्यात क्षेत्र का दर्जा

कालीन नगरी को मिला विशेष निर्यात क्षेत्र का दर्जा

हमार भदोही के प्रयास लाया रंग
लंबे समय से भदोही को विशेष निर्यात क्षेत्रका दर्जा देने की चल रही थी मांग
कालीन नगरी को विशेष निर्यात क्षेत्र का दर्जा दिलाने के लिए हमार भदोही के संयोजक संजय श्रीवास्तव लंबे समय से प्रयासरत थे उन्हें के लगातार पत्राचार और प्रयास के चलते केंद्र सरकार ने इसे घोसित कर दिया है
इसी सप्ताह आकंड़े को लेकर उपपोह की स्थिति समाप्त हो गई जब आंकड़े मंत्रलाय को प्राप्त हो गए ।
किसी ऐसे क्षेत्र जंहा हस्तशिल्प का निर्यात 150 करोड़ से ज्यादा होता है ऐसे क्षेत्रों को विशेष सुविधा देने के लिए सरकार विदेश नीति में इन्हें टाउन ऑफ एक्सपोर्ट एक्सलेंस घोसित किया जाता है । इसे घोसित कराने के किये हमार भदोही द्वारा लगातार पत्राचार करने के साथ जनप्रतिनिधियो का भी सहयोग लिया जा रहा था पिछले दिनों सांसद वीरेंद्र सिंह ने हमार भदोही के पत्रचार को हवाला देते हुए वाणिज्य मंत्री को पत्र भेजा था जिस पर वाणिज्य मंत्री ने इस परिषद से मांगे आंकड़े के मिलने के बाद इसे घोसित करने की कार्यवाई करने के कहा था जिसके बाद हमार भदोही के प्रयास के चलते पिछले सप्ताह वाणिज्य महानिदेश को 1400 करोड़ के निर्यात का आंकड़ा मंत्रालय को प्राप्त हुआ था । इसके बाद यह लगभग निश्चय हो गया था इसे जल्दी ही विषय निर्यात क्षेत्र का दर्जा दिया जा सकता है ।
अब इसे दर्जा मिलने के बाद इसे क्षेत्र को विशेष रियायते मिलेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.