होम फर्निशिंग कम्पनी आइकिया खोलेगी प्रदेश में कई स्टोर

यूपी में निवेश के लिए आगे आ रही हैं 

यूपी में निवेश के लिए आगे आ रही हैं विश्वप्रसिद्ध कम्पनियाँ: मुख्यमंत्री

आइकिया कम्पनी जनपद वाराणसी के ग्रामों की महिला हस्तशिल्पियों के साथ सहभागिता कर उनके द्वारा बनाए गए उत्पादों को आइकिया स्टोर के माध्यम से बिक्री करती है। इसके अलावा आइकिया फाउण्डेशन, क्षेत्र के कालीन निर्माताओं के साथ सामाजिक सरोकार की परियोजनाओं पर कई वर्षाें से काम कर रहा है

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि प्रदेश सरकार की  उद्योग फ्रेण्डली नीतियों एवं विश्वस्तरीय बुनियादी सुविधाओं के फलस्वरूप दुनिया की जानी-मानी कम्पनियां निवेश के लिए आगे आ रही हैं। अप्रैल, 2012 से अब तक करीब 85 हजार 524 करोड़ रुपये के निवेश प्राप्त हुए। हाल ही में मुम्बई में सम्पन्न निवेशक सम्मेलन में लगभग 51 हजार करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिले हैं। उन्होंने फर्नीचर एवं होम फर्निशिंग क्षेत्र की प्रतिष्ठित कम्पनी आइकिया द्वारा राज्य में कई स्टोर खोले जाने के निर्णय की सराहना करते हुए कहा कि कम्पनी को व्यापार के लिए हर सम्भव सहयोग प्रदान किया जाएगा। 
मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आइकिया इण्डिया के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) श्री जुवेन्सियो मायज्टू तथा प्रमुख सचिव अवस्थापना एवं औद्योेगिक विकास महेश कुमार गुप्ता द्वारा एम0ओ0यू0 पर हस्ताक्षर के बाद अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। एम0ओ0यू0 के तहत कम्पनी द्वारा राज्य में अनेक स्टोर स्थापित किए जाएंगे।
श्री यादव ने कहा कि परियोजनाओं के समयबद्ध क्रियान्वयन के लिए सभी जरूरी स्वीकृतियांे एवं अनापत्तियों को जारी करने की प्रक्रिया को राज्य सरकार ‘सिंगल विण्डो क्लियरेन्स प्रणाली’ के माध्यम से त्वरित एवं पारदर्शी रूप से सुगम बनाएगी। ‘ईज आॅफ डुइंग बिजनेस’ के विभिन्न मानकों पर प्रदेश की रैकिंग में और अधिक सुधार के लिए राज्य सरकार लगातार प्रयास कर रही है, ताकि प्रदेश में निवेश के इच्छुक उद्यमियों को ज्यादा सुविधाएं दी जा सके। प्रदेश की तेजी से बढ़ रही अर्थव्यवस्था के फलस्वरूप राज्य के एक विकसित प्रदेश बनने की सभी सम्भावनाएं मौजूद हैं। 
इससे पूर्व, आइकिया के 3 सदस्यीय प्रतिनिधिमण्डल जिसमें मुख्य कार्यपालक अधिकारी के अलावा, कण्ट्री प्राॅपर्टी मैनेजर जेफ़ डाॅलिन तथा सीइओ की सहायक नीतू कपासी शामिल थीं, ने मुख्यमंत्री से भंेट कर आगामी वर्षाें में राज्य में बड़े पैमाने पर निवेश कर अपने ग्लोबल माॅडल के अनुसार कई स्टोर खोलने के प्रस्ताव की जानकारी दी। 
प्रतिनिधिमण्डल ने बताया कि प्रत्येक स्टोर में लगभग 500 करोड़ रुपये का निवेश अनुमानित है। पहले चरण में लखनऊ, आगरा और नोएडा में स्टोर खोले जाएंगे। इसके साथ ही, कम्पनी राज्य में अपनी सप्लाई चेन को विस्तारित करते हुए दीर्घकालीन सप्लायर नेटवर्क को मजबूत करेगी। प्रतिनिधिमण्डल ने कहा कि आइकिया इण्डिया द्वारा प्रदेश में खोले जाने वाले स्टोरों से राज्य के नागरिकों को वाजिब मूल्य पर अन्तर्राष्ट्रीय गुणवत्ता एवं डिजाइन के होम फर्निशिंग उत्पाद प्राप्त करने में आसानी होगी।  
ज्ञातव्य है कि आइकिया कम्पनी जनपद वाराणसी के ग्रामों की महिला हस्तशिल्पियों के साथ सहभागिता कर उनके द्वारा बनाए गए उत्पादों को आइकिया स्टोर के माध्यम से बिक्री करती है। इसके अलावा आइकिया फाउण्डेशन, क्षेत्र के कालीन निर्माताओं के साथ सामाजिक सरोकार की परियोजनाओं पर कई वर्षाें से काम कर रहा है। प्रतिनिधिमण्डल के अनुसार कालीन उत्पादन केन्द्रों में अधिक उत्पादकता एवं कार्य करने की परिस्थितियों को और बेहतर करने के लिए कम्पनी ने भदोही के कालीन आपूर्तिकर्ता के साथ मिलकर एक अभिनव स्वचालित करघा स्थापित किया है। इसका लाभ अधिक से अधिक कालीन निर्माताओं तक पहुंचाने के लिए कम्पनी ने करघे का पेटेण्ट नहीं कराया है। दुनिया में स्थापित अपने स्टोर्स के लिए आइकिया पिछले 28 वर्षाें से भारतीय उत्पादों की सोर्सिंग करता रहा है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.