विरोध मार्च को लेकर निर्यातकों ने बनाई रणनीति

आयोजित बैठक में भारी संख्या में पहुंचे निर्यातक

भदोही। जीएसटी के विरोध को लेकर कालीन नगरी में 19 जुलाई को निर्यातकों द्वारा निकाले जाने वाले मार्च के लिए एकमा ने गोपीगंज में निर्यातकों की बैठक आयोजित किया जिसमें विरोध मार्च की तैयारियों को लेकर निर्यातकों द्वारा रणनीति बनाई गई।

अखिल भारतीय कालीन निर्माता संघ द्वारा आयोजित बैठक में एकमा व सीईपीसी पदाधिकारियों के साथ सैकड़ो की संख्या में कालीन निर्यातक उपस्थित रहे। इस दौरान सभी ने एकमत से जीएसटी को उद्योग के लिए खतरा बताया। निर्यातकों ने कहा कि यह उद्योग हित मे नही है इससे उद्योग का बड़े पैमाने पर नुकसान उठाना पड़ेगा। बुनकरों-मजदूरों पर 18 फीसदी जीएसटी थोपने से जहां निर्यात में कमी आएगी वहीं स्थानीय स्तर पर रोजगार भी घटेगा। ऐसे में सरकार को हर हाल में कालीन उद्योग से जीएसटी को वापस लेना चाहिए। बैठक में एकमा अध्यक्ष गुलामन अंसारी, मानद सचिव पीयूष बरनवाल, पूर्व एकमा अध्यक्ष रवि पाटोदिया, सीईपीसी पदाधिकारी संजय गुप्ता, ओमकार नाथ मिश्रा, आलोक बरनवाल, अब्दुल हादी, सन्तोष गुप्ता, ब्रजेश गुप्ता सहित काफी संख्या में कालीन निर्यातक उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.