राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने सम्बोधन में किया कार्पेट का उल्लेख, कालीन नगरी गदगद

भदोही/नई दिल्ली । देश के 14वें राष्ट्रपति के रूप में राम नाथ कोविंद ने मंगलवार को अपना पदभार संभालने के बाद राष्ट्र को संबोधित करते हुए कई ऐसी बाते कही जो लोगों के दिल को छू गयी। उनके सम्बोधन से कालीन नगरी भदोही मे कालीन उद्योग से जुड़े लोग खुशी से गदगद हैं। यह खुशी लोगों में इस बात को लेकर है कि महामहिम ने अपने सम्बोधन में कालीन और उसकी बुनाई का भी उल्लेख करते हुए ऐसे कार्यो को करने वाले लोगों को राष्ट्र निर्माता बताया है। उनके इस सम्बोधन का वीडियो भी कालीन उद्योग से जुड़े लोग तेजी से सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं जो उनके उत्साहित होने के तौर पर देखा जा रहा है।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने सम्बोधन कार्पेट का उल्लेख कुछ इस तरह किया, उन्होंने कहा कि देश का हर नागरिक राष्ट्र निर्माता है। हम में से प्रत्येक व्यक्ति भारतीय परंपराओं और मूल्यों का संरक्षक है और यही विरासत हम आने वाली पीढ़ियों को देकर जाएंगे। जिस नौजवान ने अपना स्टार्ट-अप शुरू किया है और अब स्वयं रोजगार दाता बन गया है, वो राष्ट्र निर्माता है। ये स्टार्ट-अप कुछ भी हो सकता है। किसी छोटे से खेत में आम से अचार बनाने का काम हो, कारीगरों के किसी गांव में कार्पेट बुनने का काम हो या फिर कोई लैबोरेटरी, जिसे बड़ी स्क्रीनों से रौशन किया गया हो।
इसे लेकर कालीन निर्यातक योगेश गोयल, उमेश गुप्ता, सन्तोकचन्द गोलचा, उमेश शुक्ल आदि ने खुशी जताते हुए कहा कि राष्ट्रपति द्वारा अपने सम्बोधन में कालीन और उसके बुनाई का उल्लेख करना उद्योग के लिये गर्व की बात है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.