अमेरिका -भारत के रणनीतिक और वाणिज्यिक संबंन्धो को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है।’’ सुश्री कार्लसन

 वाराणसी इण्डो-अमेरिकन चैम्बर आफ कामर्स, उत्तर प्रदेष शाखा, वाराणसी द्वारा शनिवार 4 नवम्बर 2017 को होटल रेडिसन, कैन्टोनमेन्ट वाराणसी में एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया।  इस अवसर पर आयोजित विचार गोष्ठी का विषय भारत -अमेरिका की वाणिज्यिक साझेदारीश् (The US-India Commercial Partnership) था।  मुख्य अतिथि श्रीमती मैरीके एल. कार्लसन ने अपने सम्बोधन में कहां कि ‘‘भारत में अमेरिकी मिषन सभी क्षेत्रों में अमेरिका-भारत के रणनीतिक और वाणिज्यिक संबंन्धो को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है।’’ सुश्री कार्लसन ने अमेरिका में 20-22 जून, 2018 को आयोजित होने वाले सेलेक्टस ग्लोबल षिखर सम्मेलन में भारत  की ओर से भाग लेने वाले प्रतिनिधिमंडल में आईएसीसी के सदस्यों के शामिल होने का भी स्वागत किया।

इस आयोजन में नई दिल्ली स्थित अमेरिकी दूतावास की चार्ज डी अफेयर्स श्रीमती मैरीके एल. कार्लसन मुख्य अतिथि थी। इसके अतिरिक्त इण्डो-अमेरिकन चैम्बर आफ कामर्स के क्षेत्रीय अध्यक्ष श्री यष कंसल, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष श्री असीम चावला के अतिरिक्त क्षेत्रीय कार्यालय के पूर्व अध्यक्ष  श्री एस.के. सरकार तथा क्षेत्रीय कार्यालय की सदस्य  श्रीमती मंजुला चावला इस अवसर पर उपस्थित थी। इसके साथ ही आई.ए.सी.सी., उत्तर प्रदेष शाखा, वाराणसी के पूर्व अध्यक्ष श्री एल.आर. मौर्या तथा वर्तमान उपाध्यक्ष श्री जे.पी. मुन्द्रा एवं श्रीमती अनीता डे के अलावा चैम्बर के सदस्यों ने बड़ी संख्या में इस कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। 

कार्यक्रम के आरम्भ में आईएसीसी उत्तर प्रदेष, वाराणसी शाखा के अध्यक्ष श्री विनय कुमार शुक्ला ने नई दिल्ली स्थित अमेरिकी दूतावास की चार्ज डी अफेयर्स श्रीमती मैरीके एल. कार्लसन तथा अन्य अतिथियों का स्वागत करते हुए कहां कि हम सबके लिए यह एक ऐतिहासिक क्षण हैं। श्री शुक्ला ने आषा व्यक्त की कि अमेरिकी दूतावास के अधिकारियों की यात्रा से भारत-अमेरिका के वाणिज्यिक भागीदारी को और बढ़ावा मिलेगा। अध्यक्ष श्री विनय कुमार शुक्ला ने सभी प्रतिभागियों, महिलाओं तथा पत्र-प्रतिनिधियों का भी स्वागत किया ।

आईएसीसी उत्तर प्रदेष, वाराणसी शाखा के पूर्व अध्यक्ष सी.ए. मुकुल कुमार शांह ने अपने सम्बोधन में भारत में विषेष रूप से उत्तर प्रदेष के मौजूदा औद्योगिक विकास के बारे में विस्तार से बताया।

इण्डो-अमेरिकन चैम्बर आफ कामर्स के क्षेत्रीय अध्यक्ष श्री यष कंसल ने कहां कि अमेरिकी दूतावास के अधिकारियों कि यह यात्रा दोनों देषों में परस्पर व्यापार, निवेष और प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में संबंध स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्माण करेगा। श्री कंसल ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में वाणिज्य और व्यापार में तेजी लाने की इच्छा, पूंजी का निवेष और दोनो देषों के बीच प्रौद्योगिकी के आदान-प्रदान में वृद्धि हुईं हैं।
इसके बाद प्रष्नोत्तर का सत्र प्रारम्भ हुआ ।  इसमें षिक्षा, उद्योग, अमेरिकी पूॅंजी निवेष तथा सांस्कृतिक आदा-प्रदान के विभिन्न प्रष्न श्रोताओं द्वारा पूछे गये ।  सीमित समय को ध्यान में रखते हुए इन प्रष्नों का यथा सम्भव उत्तर देने का प्रयास किया गया ।

कार्यक्रम के अन्त में आई ़ए ़सी ़सी ़ वाराणसी के पूर्व अध्यक्ष श्री अरूण कुमार अग्रवाल ने मुख्य अतिथि श्रीमती मैरीके एल. कार्लसन, चार्ज डी अफेयर्स, अमेरिकी दूतावास, नई दिल्ली का धन्दवाद ज्ञापन करते हुए आषा प्रकट की कि भविष्य में भी हमें उनका सहयोग प्राप्त होता रहेगा । उन्होंन अन्य वक्ताओं, सभी प्रतिभागियों तथा पत्र-प्रतिनिधियों को भी धन्यवाद दिया । कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य एवं आई ़ए ़सी ़सी ़ वाराणसी के पूर्व अध्यक्ष  श्री एहसान आर. खान  ने किया था।

इस कार्यक्रम में चैम्बर के वरिष्ठ सदस्य श्री भरत अग्रवाल श्री आर ़ के ़ गोयल, श्री सुब्रतो पॉल, श्री सूर्यमनि तिवारी, श्री आलोक बरनवाल, सीए सुदेषना बसु, श्री साहिल गर्ग, श्री सौरभ शाह, श्री राज के अग्रवाल, श्री मनीस मौर्या, श्री एकलव्य सिंह श्री राजेष कुमार तिवारी, श्री राजेष कुमार श्रीवास्तवा, श्री चन्द्रमनि मौर्या, श्री बी,एन, जोंन आदि सदस्य उपस्थित थे

Leave a Reply

Your email address will not be published.