DOMOTEX 2019- 165 देशों की कड़ी टक्कर में चार भारतीय कालीन डिजाइन ने बनाई फाइनल 24 में जगह 165 देशों की 233 कालीन डिजाइनों के बीच था कड़ा मुकाबला

DOMOTEX AWARD 2019

DOMOTEX AWARD 2019

DOMOTEX AWARD 2019 -165 देशों की 233 कालीन डिजाइनों के बीच था कड़ा मुकाबला

12 जनवरी को होगा आठ विजेताओं का एलान

भदोही। भारतीय हस्तनिर्मित कालीन विदेशो में बड़े पैमाने पर निर्यात के साथ साथ बेहतरीन डिजाइन के मामले में भी प्रतिद्वंद्वी देशों को कड़ी टक्कर दे रहे हैं. जर्मनी के डोमोटेक्स कार्पेट डिजाइन अवार्ड में भारतीय कालीनों के डिजाइन लगातार का दबदबा देखने को मिल रहा है और इस बार अवार्ड के फाइनल राउण्ड में चयनित 24 कालीन डिजाइन में भारत के चार कालीनों ने अपनी जगह बनाई है। 12 जनवरी को आठ अलग अलग श्रेणियों के विजेताओं का एलान किया जाएगा जिसमे उम्मीद है कि इन कालीनों को भी अवार्ड मिलेगा। पिछले वर्ष भी डोमोटेक्स में दो भारतीय कालीनों को यह अवार्ड जीतने में सफलता मिली थी।

हर वर्ष जर्मनी के हनोवर में डोमोटेक्स फेयर का आयोजन किया जाता है जिसमे पूरे विश्व से कालीन निर्यातक भाग लेते हैं। फेयर में बेस्ट कार्पेट डिजाइन अवार्ड के लिए प्रतियोगिता होती है जिसके तहत यह अवार्ड दिया जाता है। इस बार कार्पेट डिजाइन के आठ श्रेणियों के लिए कुल 165 देशों के 233 कालीन डिजाइन की एंट्री हुई थी जिसमे प्रत्येक श्रेणी में तीन कालीन डिजाइन के का चयन करते हुए आठ श्रेणियों में कुल 24 डिजाइन का फाइनल राउंड में चयन किया गया है। 165 देशों की कड़ी प्रतियोगिता के बाद फाइनल राउंड में जगह बनाने वाली 24 कालीनों में चार भारतीय कालीन हैं। जिसमे बेस्ट मॉडर्न डिजाइन सुपीरियर और बेस्ट मॉडर्न डिजाइन डीलक्स के लिए जयपुर की जयपुर रग्स की दो कालीन डिजाइनों का चयन हुआ है। इसके साथ ही बेस्ट ट्रेडिशनल डिजाइन के लिए चौधरी एक्सपोर्ट और बेस्ट फ़्लैट विव डिजाइन मंगलम आर्ट्स की कालीन चयनित की गई है। चयनित 24 कालीन में आठ कालीन डिजाइन के विजेताओं के नाम की घोषणा 12 जनवरी को डोमोटेक्स फेयर में किया जाएगा। इस उपलब्धि को लेकर भारतीय कालीन उद्यमी उत्साहित हैं।

One Comment

Leave a Reply to Raviraj kushwaha Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *