ऐसे होगा भदोही कारपेट एक्सपो मार्ट संचालन

भदोही के कारपेट एक्सपो मार्ट के उत्तर परदेश सरकार की कैबिनेट ने नयी नियमावली को दी  मंजूरी

60 फीसदी कालीन निर्यातको को मिलेगी जगह  ,टेंडर से होगा चयन

लखनऊ भदोही में 180 करोड़ की लागत से बनाए गए कारपेट एक्‍सपो मार्ट के संचालन के गाइड लाइन को आज योगी सरकार के कैबिनेट बैठक में मंजूरी मिलने के बाद लंबे समय से मार्ट के संचालन को लेकर चल रहे कयासों पर विराम लग गया। मार्ट संचालन को लेक‍र पूर्ववर्ती सरकार द्वारा बनाए गए नियमों में संशोधन करते हुए कैबिनेट ने खुली निविदा के तहत दस वर्षो के लिए मैनेजमेंट एजेंसी को देने की मंजूरी दी है। इसके तहत चयनित एजेंसी को 50 लाख रूपए का एकमुश्त प्रीमियम और 10 लाख रूपए. की परफॉर्मेन्स सिक्योरिटी देनी होगी

। एक्सपो मार्ट की 60 फीसदी दुकानों का आवंटन कारपेट मैन्युफैक्चरर व एक्सपोर्टर दिए जाने का फैसला लिया गया है। हालांक‍ि पूर्ववर्ती सरकार ने मार्ट संचालन के लिए मिर्जापुर-भदोही क्षेत्र निर्यातकों को वरीयता देने का नियम बनाया था जिसमें अब बदलाव कर दिया गया है। कैबिनेट मंजूरी के कालीन निर्यातकों में जल्‍द मार्ट शुरू होने की उम्‍मीद जगी है।
कालीन नगरी भदोही से सैकड़ों करोड़ की कालीन विदेशों में निर्यात विदेशों में किया जाता है। कालीन निर्यात को बढ़ावा देने के लिए दिल्‍ली और वाराणसी में कालीन मेले का आयोजन किया जाता है। भदोही में भी निर्यातकों द्वारा मांग की जाती रही कि यहां भी कालीन मेले का आयोजन किया जाय। निर्यातकों की मांग को देखते हुए पूर्व की अखिलेश सरकार ने 180 करोड़ की लागत से भदोही कारपेट एक्‍सपो मार्ट का निर्माण शुरू कराया। यह मार्ट लगभग पूरी तरह बन कर तैयार है और लंबे समय से इसके संचालन को लेकर तरह तरह की अटकले लगायी जा रही थी। कालीन निर्यातक और कालीन संस्‍थाओं ने भी सरकार को अपने अपने सुझाव दिए थे।  मार्ट के संचालन करने के लिए अखिल भारतीय कालीन निर्माता संघ भी आगे आया था और सरकार को प्रस्‍ताव दिया था। इस पर भदोही आए लद्यु उद्योग मंत्री सत्‍यदेव पचौरी ने भी अपनी सहमती दी थी लेकिन अब कैबिनेट में मार्ट संचालन के नियमों को मंजूरी मिलने के बाद अब इसे टेंडर प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा। भदोही कारपेट एक्सपो मार्ट के प्रबंधन व संचालन की व्यवस्था को यूपी कैबिनेट की स्वीकृति। प्रबंधन व संचालन के लिए एजेंसी का चयन खुली निविदा से 10 वर्ष के लिए किया जाएगा। चयनित एजेंसी को 50 लाख रु. का एकमुश्त प्रीमियम और 10 लाख रु. की परफॉर्मेन्स सिक्योरिटी देनी होगी। एक्सपो मार्ट के प्रबंधन व संचालन के लिए एजेंसी के चयन की आरएफक्यू/आरएफपी प्रक्रिया के दौरान 2 प्री-बिड कॉन्फ्रेंस लखनऊ व भदोही में आयोजित होंगी। एक्सपो मार्ट की 60 फीसदी दुकानों का आवंटन कारपेट मैन्युफैक्चरर व एक्सपोर्टर को किया जाएगा।
कालीन निर्माण करने वाले प्रदेश के सभी जनपद के निर्यातकों को दुकान का आवंटन किया जायेगा।

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *